Home Green

Happy Birthday…

 

આજે તો ‘માં’ માટે આનાથી ઉત્તમ કોઈ શબ્દો મળતા નથી. આ ગીત ફિલ્મ ‘દાદીમાં'(1966)નું છે. જેને મેં ગાવાની કોશિશ કરી,ભાઈઓ અને બહેનો તરફથી પૂજ્ય મમ્મીને અર્પણ કર્યું છે.

Music By: रौशन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: महेंद्र कपूर, मन्ना डे, उषा मंगेशकर

उसको नहीं देखा हमने कभी
पर इसकी ज़रुरत क्या होगी
ऐ माँ, ऐ माँ तेरी सूरत से अलग
भगवान की सूरत क्या होगी, क्या होगी
उसको नहीं देखा हमने कभी

इनसान तो क्या देवता भी
आँचल में पले तेरे
है स्वर्ग इसी दुनिया में
क़दमों के तले तेरे
ममता ही लुटाये जिसके नयन
ऐसी कोई मूरत क्या होगी
ऐ माँ, ऐ माँ तेरी सूरत…

क्यों धूप जलाए दुखों की
क्यों गम की घटा बरसे
ये हाथ दुआओं वाले
रहते हैं सदा सर पे
तू है तो अँधेरे पथ में हमें
सूरज की ज़रुरत क्या होगी
ऐ माँ, ऐ माँ तेरी सूरत…

कहते हैं तेरी शान में जो
कोई ऊँचे बोल नहीं
भगवान के पास भी माता
तेरे प्यार का मोल नहीं
हम तो यही जानें तुझसे बड़ी
संसार की दौलत क्या होगी
ऐ माँ, ऐ माँ तेरी सूरत से अलग
भगवान की सूरत क्या होगी, क्या होगी

 

This entry was posted in Sur-Sargam, Uncategorized. Bookmark the permalink.

bottom musical line

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *